[ad_1]

अलवर में बिक रही हैं QR Code वाली राखी 

देश में बिकने वाली राखियों में से 50 प्रतिसत राखियाँ  अलवर में बनाई जाती है।

अलवर हर साल राखियो की नई डिज़ाइन बनाने में मशहूर है।

इस साल भी यंहा खास किस्सम की राखी तैयार की गई जो सुर्खिया में है।

इस बार अलवर में QR Code वाली राखियाँ डिज़ाइन की गई है।

मोबाइल से स्कैन करने पर लोकप्रिय कार्टून कैरक्टर वाली एनीमेशन फिल्मे दिखती है।

करीब पांच हजार परिवार राखी बनाने के व्यवसाय से जुड़े है।

इस साल रक्षाबंधन का तैहवार 30 अगस्त को है।

[ad_2]