[ad_1]

चंद्रयान-3 के बाद भारत का सूर्ययान यानी आदित्य-एल1 (Aditya-L1) मिशन लॉन्च होना है।

यह मिशन तारीख 30 या 31 अगस्त या फिर सितंबर महीने के पहले हफ्ते में लॉन्च हो सकता है।

सूर्ययान (Aditya-L1) सूरज के वातावरण का अध्ययन करेगा।

एक्स-रे पोलैरीमीटर सैटेलाइट (X-ray Polarimeter Satellite(XPoSat)) भी इसी साल लॉन्च होना है।

क्लाइमेट ऑब्जरवेशन सैटेलाइट निसार सैटेलाइट (INSAT-3DS) भी लॉन्च होगा।

निसार मिशन भारत और अमेरिका का ज्वाइंट मिशन होगा।

यह समुद्री जलस्तर, भूजल का स्तर, प्राकृतिक आपदाएं, भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखी और भूस्खलन आदि की जानकारी देगा।

गगनयान मिशन, इन के तहत भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को गगनयान कैप्सूल में बिठाकर अंतरिक्ष में भेजा जाएगा।

[ad_2]