[ad_1]

Chandrayaan-3 का विक्रम लैंडर 23 अगस्त, शाम 6:04  चांद पर  सुरक्षित पहुंच गया है।

विक्रम लैंडर में प्रज्ञान रोवर है, जो चाँद की सतह पर उतरेगा

प्रज्ञान रोवर में दो पेलोड्स है, एक लेजर इंड्यूस्ड ब्रेकडाउन स्पेक्ट्रोस्कोप,

जो चाँद पर मौजूद रसायनों की मात्रा और गुणवत्ता का अभ्यास करेगा और खनिजों की खोज करेगा।

दूसरा पेलोड अल्फा पार्टिकल एक्स-रे स्पेक्ट्रोमीटर है, जो चाँद पर

 मैग्नीशियम, अल्यूमिनियम, सिलिकन, पोटैशियम, कैल्सियम, टिन और लोहा इन एलिमेंट की खोज करेगा।

विक्रम लैंडर में चार पेलोड्स है,

पहला रंभा (RAMBHA) यह चंद्रमा की सतह पर सूरज से आने वाले प्लाज्मा कणों के घनत्व, मात्रा और बदलाव की जांच करेगा।

दूसरा चास्टे (ChaSTE) यह चंद्रमा की सतह की गर्मी यानी तापमान की जांच करेगा।

तीसरा है इल्सा (ILSA) यह लैंडिंग साइट के आसपास भूकंपीय गतिविधियों की जांच करेगा।

चौथा है लेजर रेट्रोरिफ्लेक्टर एरे (LRA) यह चंद्रमा के डायनेमिक्स को समझने का प्रयास करेगा।

[ad_2]