[ad_1]

श्रावण के पावन महीने में भगवान शंकर को अपनी राशि के अनुसार Dry Fruits चढ़ाएं। 

मेष राशि: मेष राशि के स्वामी मंगल ग्रह है। मुनक्‍का मिश्री में मिलाकर शिव जी को अर्पित करे ।

वृषभ राशि: वृषभ राशि के स्वामी शुक्र हैं। काजू और मिश्री भोलेनाथ को अर्पित करें । 

मिथुन राशि: मिथुन राशि का स्वामी बुध है। आपको पिस्ता और मिश्री शिव शंकर को चढ़ानी चाहिए। 

कर्क राशि: कर्क राशि के स्वामी चंद्रदेव हैं। आपको मखाना के साथ मिश्री मिलाकर चढ़ानी चाहिए। 

सिंह राशि: सिंह राशि के स्वामी सूर्यदेव हैं। आपको सूखी खुबानी और बादाम शंकर जी  को अर्पित करना चाहिए। 

कन्या राशि: कन्या राशि के स्वामी भी बुध हैं। आप पिस्ता के अतिरिक्त किशमिश शंकर जी को चढ़ाएं। 

तुला राशि: तुला राशि के स्वामी भी शुक्र ह। आपको काजू और मिश्री के अलावा सूखा नारियल मिश्री के साथ चढ़ाना चाहिए। शिव जी को गीला नारियल नहीं चढ़ता है। 

वृश्चिक राशि: वृश्चिक राशि के स्वामी भी मंगल है। आपको मुनक्का के अलावा मूंगफली व अखरोट चढ़ाना चाहिए। 

धनु राशि: धनु राशि के स्वामी गुरु है। धनु राशि जातक केशर और खजूर भगवान शंकर को भोग में अर्पित करें।

मकर राशि: मकर राशि के स्वामी शनिदेव है। आप बादाम के साथ छुहारा-अंजीर भोलेनाथ के चरणों में रखें। 

कुंभ राशि: कुंभ राशि के स्वामी भी शनिदेव ही हैं।महादेव को सुपारी और बादाम अर्पण करें ।

मीन राशि: मीन राशि के स्वामी भी गुरु हैं। भोलेनाथ को खजूर व केसर के अलावा किशमिश व मगज अर्पित  करें । 

[ad_2]